Naina-नैना compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit skoda-avtoport.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:18

नैना--पार्ट-21

गतान्क से आगे.......

सीन चेंज: (सोना आंड शान)

सोना और शान दोनो बेड रूम मे चले गये. बेड रूम मे जाते ही सोना ने सीडी

प्लेयर ऑन किया और रोमॅंटिक किसम का वायिल्फ्न बजने लगा हल्की आवाज़ मे.

और शान की नेक के राउंड आर्म्स कर लिये और स्लोली स्लोली डॅन्स करने लगे.

शान ने भी अपने आर्म्स सोना की कमर पे रख दिये और स्लोली स्लोली मूव करने

लगे.

सोना: हाउ आर यू फीलिंग जानू?

शान: आहह सो नाइस. तुम ने तो मेरी सारी थकान उतार दी.

सोना: अच्छा उस मनहूस का ख़याल दिल से निकाल दो. जस्ट थिंक ऑफ मी.

शान: अरे प्ल्ज़ इतने रोमॅंटिक महॉल मे उसका जिकर मत करो. तुम ना होती तो

नज़ाने मैं खुद कुशी ही कर जाता.

सोना: ऐसी बाते तो ना बोलो मेरे सामने जानू.

म्यूज़िक प्लेयिंग वेरी स्लोली, बोथ मूविंग राउंडिंग आर्म्स विथ ईच अदर.

आइज़ इन आइज़ आंड टॉकिंग. रोमॅंटिक अट्मॉस्फायर.

बोत स्टार्टेड टॉक इन वेरी स्लो वाय्स.

सोना: जानू बताओ ना फिर.

शान: क्या बताऊ?

सोना: अरे वोही कि मैं कहाँ कहाँ से सेक्सी हूँ?

शान: ओह अछा. बता दूं?

सोना: हां जानू क्यो तरसा रहे हो बताओ ना.

शान: अपने हाथ सोना की कमर से मूव करते करते सीधा सोना के हिप्स के ऊपेर

ले आया और आहिस्ता से प्रेस कर के आहिस्ता आवाज़ मे बोला सब से पहले यहाँ

से.

सोना: आआह और शान के कान के करीब जा के आहिस्ता से बोला. वो केसे जानू?

शान: युवर हिप्स आर सो सेक्सी. सो सॉफ्ट आंड इन वेरी नाइस शेप.

सोना: अछा. और नैना के?

शान: प्ल्ज़ जानू फिर उस का नाम मत लो ना.

सोना: ओह सॉरी जानू. अछा और कहाँ से सेक्सी हूँ?

शान: सोना के ब्रेस्ट्स पे हाथ रखते हुए और यहाँ से.

सोना: अया ज़रा आराम से प्रेस करो ना जानू. आअह क्यो अच्छे लगते हैं

ब्रेस्ट्स मेरे?

शान: यू हॅव वेरी अट्रॅक्टिव मीडियम साइज़्ड ब्रेस्ट्स.

सोना: ओह जानू थॅंक्स.

दोनो स्लोली स्लोली मूव कर रहे थे म्यूज़िक पे और आहिस्ता से सोना ने शान

की शर्ट के बटन ओपन करना शुरू कर दिये. हर आक्ट मे सोना पहल कर रही थी जो

शान को बहोत अछा लग रहा था. नैना ने कभी भी सेक्स मे पहल नही की थी कॉज़

वो ऐक घरैलू और होम्ली लेडी थी और होम्ली लेडी कभी भी पहल नही करती. सोना

ने स्लोली स्लोली शान की शर्ट के तमाम बटन ओपन कर दिये जो कि सॉफ इशारा

था कि शान अपनी शर्ट उतार दे. शान ने अपनी शर्ट उतार थी और साथ ही बनायन

भी. सोना की आँखों मे भी शान के लिये ऐक रिक्वेस्ट थी जो शान फ़ौरन समझ

गया और शान के हाथ खुद बखुद शर्ट की बॅक साइड पे लगी ज़िप पे चले गये और

शान ने सोना की शर्ट के बॅक से ज़िप ओपन कर के अगले ही लम्हे शान ने सोना

की शर्ट को उस के खूबसूरत जिस्म से अलहदा कर दिया. सोना का कलर हल्का

सांवला था. ज़यादा गोरी नही थी बट बहोत अट्रॅक्टिव थी. सोना ने मरून कलर

की ब्रा पहनी हही थी जो उस के सेक्सी ब्रेस्ट्स को 4 चाँद लगा रही थी.

हल्के हल्के म्यूज़िक मैं दोनो झूम रहे थे और अब बोल कोई नही क्यो के अब

प्यार का चॅप्टर शुरू हो चुका था. दोनो के लिप्स ऐक दूसरे मे समा गये थे.

झूमते झूमते म्यूज़िक के साथ लिप्स किस्सिंग चल रही थी. अब स्लोली स्लोली

लव यू, आ जानू, माइ सेक्सी जानू की आवाज़े आना शुरू हो गयीं थी. शान ने

स्लोली सोना के ब्रा की हुक ओपन कर दी और सोना ने हाथ नीचे की तरफ़ किए

जिस से ब्रा खुद बखुद नीचे गिर गयी और शान से ऐसे लिपट गयी कि उस के

ब्रेस्ट्स शान की चेस्ट मे दब के रह गये.

शान की किस्सिंग का सफ़र सोना के लिप्स तक ही सीमित नही था बल्कि यह सफ़र

सोना के पूरे फेस, इयर्स और नेक तक पहॉंच गया था. सोना तो बस आह आह कर

रही थी. सोना ने अगले ही लम्हे शान को बेड पे गिरा लिया खुद ऊपेर आ गयी.

शान ऐसा प्यार फर्स्ट टाइम हासिल कर रहा था जिस मे टोटली आक्टिव सोना थी.

सोना ने ऊपेर आते ही शान पे किस्सिंग की बारिश कर दी. लिप्स, चीक्स, नेक,

शोल्डर्स, चेस्ट सब जगा पे सोना ने अपने लिप्स से किस्सिंग की बारिश कर

दी. शान बस आइज़ क्लोज़ कर के फील करने लगा और अगले लम्हे वो हुआ जिस की

शान को बिल्कुल भी उमीद ना थी. सोना ने खुद ही शान की पेंट की बेल्ट ओपन

की ज़िप ओपन की और लंड निकाल के हाथ मे ले लिया. उफ़फ्फ़ नैना ने कभी ऐसा

नही किया था उस ने तो कभी लंड मूँह मे भी नही लिया था. अभी यही सोच रहा

था कि उसे अपने लंड पे सोना के वेट लिप्स फील होने लगे. अया निकल गयी शान

के मूँह से. सोना ने स्लोली स्लोली लोलीपोप की तरहा लंड को लीक करना शुरू

कर दिया और साथ ही सकिंग शुरू कर दी. शान के लिये यह एक्सपीरियेन्स बहोत

ही ज़यादा हॉट था, सोना बहोत ही प्रोफेशनल तरीक़े से लंड सक कर रही थी.

अगले ही लम्हे सोना ने शान की पेंट को उसकी लेग्स से अलहदा कर दिया और

शान बिल्कुल नेकेड बेड पे लंड खड़ा किये हुए लेटा था.

सोना शान को दैख के मुस्कुराने लगी और खड़े हो कर अपनी पेंट उतारने लगी.

थोड़ी ही देर मे सोना की पेंट भी उस के जिस्म से अलहदा हो गयी और वो

बिल्कुल नंगी शान के सामने थी. शान की नज़र सीधा सोना की चूत पे पड़ी जिस

पे हेर्स की ऐक बारीक से लकीर थी शायद फॅशन के तौर पे रखी थी सोना ने. और

हल्के ब्राउन लिप्स वाली चूत साफ दिख रही थी के वेट है.

शान से रहा नही गया और सोना को खींच के बेड पे गिरा लिया. और सोना पे

पागलों की तरहा किसिंग की बारिश कर रही थी. सोना भी शायद यही चाह रही थी

शान के साथ लिपट गयी और जहाँ जहाँ जगह मिलती शान को किस्सिंग करने लगी.

शान ने सोना के ब्रेस्ट्स की तरफ़ गौर से दैखा, सोना के निपल्स नैना के

ब्रेस्ट्स के निपल्स से ज़यादा डार्क थे, नैना के निपल्स पिंक जब कि सोना

के ब्राउन थे और थोड़े कम मोटे भी. शान फिर भूके शेर की तरहा सोना के

ब्रेस्ट्स पे लपक पड़ा और अगले ही लम्हे सोना की आह आह की आवाज़ पूरे

कमरे मे सुनाईं देने लगी, शान कभी ऐक निपल तो कभी दूसरी निपल पे होन्ट ले

जाते, किस्सिंग करते करते शान सोना के पेट पे आ गया और पेट से होते हुए

लेग्स पे. शान की नज़रों के सामने सोना की चूत थी जो इस वक़्त फुल वेट हो

चुकी थी, सोना की चूत ज़यादा डार्क थी नैना की चूत की मुकाबले. नैना की

चूत के लिप्स पिंक थे जब कि सोना के ब्राउन, शान ने सोना की थिएस पे

क़िस्सिग की बारिश कर दी जिस से सोना हिप्स उठा उठा के रेस्पॉन्स दे रही

थी जेसे कह रही हो कि चूत को भी प्यार दो. शान से रहा नही गया और सीधा

अपने लिप्स सोना की चूत पे ले गया. सोना की आवाज़ ने शान के अंदर ऐक

करेंट डाल दिया. आहह जानू आइ आम युवर्ज़, माइ वेट पुसी ईज़ युवर्ज़

प्लीज़ लिक्क इट ना. आहह. बस यही सुन.ना था कि शान ने अपनी जीब चूत मे

डाल दी और चूत के अंदर हर तरफ़ मूव होने लगी, शान को भी अब मज़ा आने लगा

और सोना तो जेसे इस दुनिया मे ही नही थी वो तो किसी और ही दुनिया मे थी

और क्या क्या बोल रही थी जो उसे भी पता नही चल रहा था, लिक्क माइ पुसी,

ईट माइ पुसी, गिव युवर पेनिस टू मी, आइ आम ऑल युवर्ज़ आहह. शान के हाथ

मूव करते करते सोना के हिप्स पे चले गये तो शान को ख़याल आया सोना के

सेक्सी हिप्स का फ़ौरन से पहले ही शान ने सोना को उल्टा कर दिया और बॅक

से किस्सिंग करने लगा.

सोना तो बस प्यार के समंदर मे डूबी हुई थी और शान के प्यार को फील कर रही

थी. शान किस्सिंग करते करते सोना के हिप्स पे आ गया और देखा कि सोना के

हिप्स ज़यादा बड़े नही थे लैकेन सेक्सी थे, नैना के हिप्स थोड़े बड़े थे

और गोरे, सोना हिप्स साँवले थे और बीच मे डार्क कलर की ऐक धार तो जैसे

जान निकाल रही थी. शान से रहा नही गया और अगले ही लम्हे शान ने अपने लंड

को सोना के हिप्स के सेंटर मे रख दिया.

जेसे ही लंड सोना की हिप्स मे आया तो सोना को होश आया कि शान क्या करने

जा रहे हैं. फ़ौरन अपना हाथ शान के लंड पे ले गयी और सेक्सी आवाज़ मैं

बोली, नो जान. शान ने हाथ हटाने की कोशिश की, सोना नो जान ना

प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ इट्स सो पेनफुल. आग यहाँ नही आगे लगी है. प्ल्ज़

इस वेट चूत पे भी रहम करो ना जानू. आअहह हिप्स यहाँ ही हैं तुम्हारे हैं

यह हिप्स जानू फिर कभी इन पे अपना गुस्सा निकाल देना

प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़

आअज नही.

शान का दिल बिल्कुल भी नही कर रहा था हिप्स से लंड हटाने का लैकेन वो

सोना को नाराज़ भी नही करना चाहता था. वहाँ ही लेटे लेटे सोना ने अपने आप

को डोगी स्टाइल पे कर लिया जो ओपन इन्विटेशन था शान के लंड के लिये. शान

ने भी बिना देर किये अपना पूरा लंड ऐक ही झटके मे सोना की चूत मे उतार

दिया. सोना की ऊँची आवाज़्ज़ निकल गयी अहुफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़

फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़.

ज़नुउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउ योउ किल्ड मे जानू.

आराआआआआआआररररराआआआमम्म्मम से डालते नाआआआआआआआआआअ

जन्न्न्नुउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउउ शान को कुछ सुनाई नही दे रहा था और

शान ने सोना की चूत पे अपने लंड के वॉर करने शुरू कर दिये. पूरे कमरे मे

सोना के हिप्स और शान की थिएस के मिलाप की आवाज़ ठप ठप ठप की शकल मे

गूंजने लगी. और इस खूबसूरत साउंड मे सोना की वेट चूत मे लंड की मूव्मेंट

की आवाज़ बहुत जोश पैदा कर रही थी. शान को फील हुआ कि सोना की चूत फूल भर

चुकी हे वेटनेस से जो इस बात की गवाह थी कि सोना 2 से 3 दफ़ा झार्र चुकी

हे. सोना भी आह अया कर रही थी. अगले 5 मिनट तक यौं ही यह सिलसिला जारी

रहा और शान के लंड से निकलती हुई तेज़ धार के साथ प्यार की आवाज़ ठंडी हो

गयी और शान उल्टी लेटी हुई सोना के ऊपेर गिर गया.

दूसरी तरफ़ आंटी ने भी नैना को शान की कमी फील नही होने दी. वहाँ भी

प्यार का तूफान लेट नाइट तक जारी रहा. आंटी ने नैना को खूब प्यार दिया और

नैना ने आंटी की गर्म प्यास को भुजाया. अब तो नैना को जैसे आंटी से प्यार

सा हो गया था. और आंटी को तो नैना से फर्स्ट नज़र मे ही मोहब्बत होगयी थी

और उसे अपनी बहू बनाने के ख्वाब देखना शुरू कर दिये थे. आज की रात आंटी

नैना के घर नही रुकी थी. तक़रीबन रात के दो बजे तक नैना और आंटी अपने

जिस्म की प्यास भुजा चुकी थी और नैना को भी पूरे दिन का शान का गम भूल

गया था.

अब सिचुयेशन यह थी कि ऐक तरफ़ तो सोना शान के मन मे नैना के खिलाफ आग लगा

रहा थी और दूसरी तरफ़ आंटी नैना को फुल सपोर्ट कर रही थी बट इन पॉस्सिटिव

मॅनर्स. नैना आंटी के साथ बहोत ज़यादा घुल मिल गयी थी अब आंटी और नैना के

बीच हर तरहा का परदा हट चुका था. आंटी नैना के बारे मे सब कुछ जान चुकी

थी. और आंटी को अपने पड़ोस मे ही सेक्स पार्ट्नर मिल गया था जैसे आंटी

अपनी सहेलियो के साथ एंजाय किया करती थी और नैना को भी सेक्स मे

सॅटिस्फॅक्षन मिलना शुरू हो गयी थी वो भी ऐक एक्सपीरियेन्स्ड ख़ातून के

हाथों.

रात को आंटी और नैना प्यार करने के बाद ऐसे ही बेड पे नंगी लेटी हुई थी.

नैना अब मेंटली सॅटिस्फाइड हो गयी थी और आंटी सेक्षुयली. आंटी ने फिर

नैना से घर जाने की इजाज़त माँगी यह कह कर कि तुम सो जाओ वेसे भी थोड़ी

देर मे सुबह हो जाए गी. नैना ने ओके कर दिया. दोनो ने लेटे लेटे ऐक दूसरे

को किस किया और आंटी ने प्यार से नैना के हिप्स पे दो थप्पड़ रसीद कर

दिये यह कहते हुए कि इन का इलाज करना पड़े गा बहोत फूल रहे हैं.

हाहहहाहा. नैना जी आंटी ज़रूर यह तो अभी भी हाज़िर हैं आप कर दो इलाज और

अपने हिप्स आंटी की तरफ़ कर दिये.

आंटी: अरे अभी नही नेक्स्ट टाइम. चल अब तू भी कपड़े पहन ले.

नैना: नही आंटी आज ऐसे ही सोने का मन कर रहा हे.

आंटी: अरे क्या नंगी ही मेन गेट बंद करने आए गी? और आंटी ने अपने कपड़े पहन लिये.

नैना: अरे हां. हहेहेः और जल्दी से कमीज़ और शलवार पहन ली.

दोनो देन गेट की तरफ़ चली गयीं और आंटी अपने घर चली गयीं और नैना वापिस आ

गये बेड पे लेट गयी और शान के बारे मे सोचने लगी.

उसे पक्का यकीन हो गया था कि उस लड़की ने शान को जाल मे फँसा लिया है और

इसी लिये शान का अब घर मे दिल नही लगता. सोचा कि अपने पेरेंट्स को सब कुछ

बता दे. लेकिन यह सोच के ना बताने का इरादा किया कि वो खुद फाइट करे गी

इस सारे मामले मे और शान का साथ भी नही छोड़े गी चाहे शान कितना ही

ज़ुल्म क्यो ना कर ले. फिर नैना आंटी के बारे मे सोचने लगी कि नही जो

आंटी कहेंगी बस मैं वो करूँ गी क्यो कि आंटी ने पूरी दुनिया दैखि है और

वो बेहतर मशवरा दे सकती हैं कि किस सिचुयेशन मे क्या करना है. यह सोचते

सोचते नैना की आँख लग गयी.

क्रमशः..........

naina--paart-21

gataank se aage.......

Scene Change: (Sona and Shan)

Sona aur Shaan dono bed room mai chalay gaye. Bed room mai jatay hi

sona nay cd player on kia aur romantic kisam ka voilin bajnay laga

halki awaz mai. Aur shan ki neck k round arms kar liay aur slowly

slowly dance karnay lagay. Shaan nay bhi apnay arms Sona ki kamar pay

rakh diay aur slowly slowly move karnay lagay.

Sona: How are you feeling janu?

Shaan: Aahhhhhh so nice. Tum nay to meri sari thakan utar di.

Sona: Acha us manhoos ka khayal dil say nikal do. Just think of me.

Shaan: Aray plz itnay romantic mahol mai uska zikar mat karo. Tum na

hoti to najanay mai khud kushi hi kar jata.

Sona: Aisi batain to na bolo meray samnay janu.

Music playing very slowly, Both moving rounding arms with each other.

eyes in eyes and talking. romantic atmosphare.

Both started talk in very slow voice.

Sona: Janu batao na phir.

Shaan: Kia bataon?

Sona: Aray wohi k main kahan kahan say sexy hoon?

Shaan: Oh acha. Bata doon?

Sona: Haan jaanu kiun tarsa rahay ho batao na.

Shaan: apnay haatha sona ki kamar say move kartay kartay seedha sona k

hips k ooper lay aya aur ahista say press kar k ahista awaz mai bola

sab say pehlay yahan say.

Sona: Aaah aur shaan k kaan k kareeb ja k ahista say bola. Wo kesay janu?

Shaan: You are hips are so sexy. So soft and in very nice shape.

Sona: Achaa. Aur naina k?

Shaan: Plz janu phir us ka naam mat lo na.

Sona: Oh sorry janu. Acha aur kahan say sexy hoon?

Shaan: Sona k breasts pay hath rakhtay huay aur yahan say.

Sona: Aaah Zara aram say press karo na janu. Aah Kiun achay lagtay

hain breasts meray?

Shaan: You have very attractive medium sized breasts.

Sona: Oh janu Thanks.

Dono slowly slowly move kar rahay thay music pay aur ahista say sona

nay shaan ki shirt k button open karna shuru kar diay. Har act mai

sona pehal kar rahi thi jo shaan ko bahot acha lag raha tha. Naina nay

kabhi bhi sex main pehal nahi ki thi coz wo aik gharailoo aur homely

lady thi aur homely lady kabhi bhi pehal nahi karti. Sona nay slowly

slowly shan ki shirt k tamam button open kar diay jo k saaf ishara tha

k shaan apni shirt utar day. shaan nay apni shirt utar thi aur saath

hi banayan bhi. Sona ki ankhon mai bhi shaan k liay aik request thi jo

shaan fauran samaj gaya aur shaan k haath khud bakhud shirt ki back

side pay lagi zip pay chalay gaye aur shaan nay sona ki shirt k back

say zip open kar k aglay hi lamhay shaan nay sona ki shirt ko us k

khubsoorat jism say alehda kar dia. Sona ka color halka sanwla tha.

Zayada gori nahi thi but bahot attractive thi. Sona nay maroon color

ki bra pehni hhi thi jo us k sexy breasts ko 4 chaand laga rahi thi.

Halkay halkay music mai dono jhoom rahay thay aur ab bol koi nahi kiun

kay ab payar ka chapter shuru ho chuka tha. Dono k lips aik doosray

main sama gaye thay. Jhoomtay Jhoomtay music k saath lips kissing chal

rahi thi. Ab slowly slowly love you, aah janu, my sexy janu ki awazain

aana shuru ho gayeen thien. Shaan nay slowly sona k bra ki hook open

kar di aur sona nay haath neeche ki tarf kie jis se bra khud bakhud

neeche gir gayee aur shaan se aise lipat gayee ki us ke breasts shaan

ki chest me dab ke rah gaye.

Shaan ki kissing ka safar sona k lips tak mehdood nahi tha balkay yeh

safar sona k pooray face, ears aur neck tak pahonch gaya tha. Sona to

bus aah aah kar rahi thi. Sona nay aglay hi lamhay shaan ko bed pay

gira lia khud ooper aa gayee. Shaan aisa payar first time hasil kar

raha tha jis mai totally active sona thi. Sona nay ooper aatay hi

shaan pay kissing ki barish kar di. Lips, Cheeks, Neck, Shoulders,

Chest sab jaga pay sona nay apnay lips say kissing ki barish kar di.

Shaan bus eyes cloz kar k feel karnay laga aur aglay lamhay wo hua jis

ki shaan ko bilkul bhi umeed na thi. Sona nay khud hi Shaan ki pent ki

belt open ki zip open ki aur lund nikal k haath mai le lia. Ufff Naina

nay kabhi aisa nahi kia tha us nay to kabhi lund moon mai bhi nahi lia

tha. Abhi yehi soch raha tha k usay apnay lund pay sona k wet lips

feel honay lagay. Aaah nikal gayee shaan k moon say. Sona nay slowly

slowly lolipop ki tarha lund ko lick karna shuru kar dia aur saath hi

sucking shuru kar di. Shaan k liay yeh experience bahot hi zayada hot

tha, Sona bahot hi professional tareeqay say lund suck kar rahi thi.

Aglay hi lamhay sona nay shaan ki pent ko uski legs say alehda kar dia

aur shaan bilkul naked bed pay lund khara kiay huay laita tha.

Sona shaan ko daikh k muskuranay lagi aur kharay ho kar apni pent

utarnay lagi. Thori hi dair mai sona ki pent bhi us k jism say alehda

ho gayee aur wo bilkul nangi shaan k samnay thi. Shaan ki nazar seedha

sona ki choot pay pari jis pay hairs ki aik bareek say lakeer thi

shaid fashion k taur pay rakhi thi sona nay. Aur halkay brown lips

wali choot saaf dikh rahi thi k wet hay.

Shaan say raha nahi gaya aur sona ko kheench k bed pay gira lia. Aur

sona pay paglon ki tarha kising ki barish kar rahi thi. Sona bhi shaid

yehi chah rahi thi shaan k saath lipat gayee aur jahan jahan jagah

milti shan ko kissing karnay lagi. Shaan nay sona k breasts ki tarf

ghaur say daikha, Sona k nipples naina k breasts k nipples say zayada

dark thay, Naina k nipples pink jab k sona k brown thay aur thoray kam

motay bhi. Shaan phir bhookay shair ki tarha sona k breasts pay lapak

para aur aglay hi lamhay sona ki aah aah ki awaz pooray kamray main

sunain dainay lagi, Shaan kabhi aik nipple to kabhi doosri nipple pay

hont lay jatay, Kissing kartay kartay shaan sona k pait pay aa gaya

aur pait say hotay huay legs pay. Shaan ki nazron k samnay sona ki

choot thi jo is waqt full wet ho chuki thi, Sona ki choot zayada dark

thi naina ki choot ki nisbat. Naina ki choot k lips pink thay jab k

sona k brown, Shaan nay Sona ki thies pay kissig ki barish kar di jis

say sona hips utha utha k response day rahi thi jesay keh rahi ho k

choot ko bhi payar do. Shaan say raha nahi gaya aur seedha apnay lips

sona k choot pay le gaya. Sona ki awaz nay shaan k andar aik current

daal dia. Aahhhhhhhhhhhhh janu i am yours, My wet pussy is yours

please lick it na. Aahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh. Bus yehi sun.na tha k

shaan nay apni toungue choot mai daal di aur choot k andar har tarf

move honay lagi, Shaan ko bhi ab maza aanay laga aur sona to jesay is

dunia mai hi nahi thi wo to kisi aur hi dunia mai thi aur kia kia bol

rahi thi jo usay bhi pata nahi chal raha tha, Lick my pussy, Eat my

pussy, Give your penis to me, I am all yours aahhh. Shaan k haath move

kartay kartay Sona k hips pay chalay gaye to shaan ko khayal aya sona

k sexy hips ka fauran say pehlay hi shaan nay sona ko ulta kar dia aur

back say kissing karnay laga.

Sona to bus payar k samandar mai doobi hui thi aur shaan k payar ko

feel kar rahi thi. Shaan kissing kartay kartay sona k hips pay aa gaya

aur daikha k sona k hips zayada baray nahi thay laiken sexy thay,

Naina k hips thoray baray thay aur goray, Sona hips sanwalay thay aur

darmayan mai dark color k aik dhaar to jaisay jaan nikal rahi thi.

Shaan say raha nahi gaya aur aglay hi lamhay shaan nay apnay lund ko

sona k hips k centre mai rakh dia.

Jesay hi lund sona ki hips mai aya to sona ko hosh aya k shaan kia

karnay ja rahay hain. Fauran apna haath shaan k lund pay le gayee aur

sexy awaz main bola, No jaan. Shaan nay haath hatanay ki koshish ki,

Sona no jaan na plzzzzzzz its so painful. Aaag yahan nahi agay lagi

hay. Plz is wet choot pay bhi rehm karo na janu. Aaahhhhhhhhhhhhhhhhh

hips yahan hi hain tumharay hain yeh hips janu phir kabhi in pay apna

ghusa nikal daina plzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzz aaaj nahi.

Shaan ka dil bilkul bhi nahi kar raha tha hips say lund hatanay ka

laiken wo sona ko naraz bhi nahi krna chahta tha. Wahan hi laitay

laitay sona nay apnay aap ko dogy style pay kar lia jo open invitation

tha shaan k lund k liay. Shaan nay bhi bina dair kiay apna poora lund

aik hi jhaktay mai sona ki choot mai utar dia. Sona ki oonch aawazz

nikal gayee ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhufffffffffffffffff

fffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff.

Januuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuu you killed me janu.

Araaaaaaaaaaaaaarrrrraaaaaaaammmmm say daltay naaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa

jannnnuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuuu Shaan ko kuch sunai nahi day raha

tha aur shaan nay sona ki choot pay apnay lund k war karna shuru kar

diay. Pooray kamray main Sona k hips aur shaan ki thies k milap ki

awaz thap thap thap ki shakal main goonjnay lagi. Aur is khubsoorat

sound main Sona ki wet choot main lund ki movement ki awaz mazid josh

paida kar rahi thi. Shaan ko feel hua k sona ki choot ful bhar chuki

hay wetness say jo is baat ki gawah thi k sona 2 say 3 dafa jharr

chuki hay. Sona bhi aah aaah kar rahi thi. Aglay 5 mainute tak youn hi

yeh silsila jari raha aur Shaan k lund say nikalti hui tez dhaar k

saath payar ki awaz thandi ho gayee aur shaan ulti laiti hui sona k

ooper gir gaya.

Doosri tarf aunty nay bhi naina ko shaan ki kami feel nahi honay di.

Wahan bhi payar ka toofan late night tak jari raha. Aunty nay naina ko

khoob payar dia aur naina nay aunty ki garm payas ko bhujaya. Ab to

naina ko jaisay aunty say payar sa ho gaya tha. Aur aunty ko to naina

say first nazar mai hi mohabbat hogayee thi aur usay apni bahu ban.nay

kay khawb daikhna shuru kar diay thay. Aaj ki raat aunty naina k ghar

nahi ruki thien. Taqreeban raat k do bajay tak naina aur aunty apnay

jism ki payas bhuja chuki thien aur naina ko bhi pooray din ka shaan

ka gham bhool gaya tha.

Ab situation yeh thi k aik tarf to Sona shaan k man main naina k

khilaf aag laga raha thi aur doosri tarf aunty naina ko full support

kar rahi thi but in possitive manners. Naina aunty k saath bahot

zayada ghul mil gayee thi ab aunty aur naina k darmayan har tarha ka

parda hut chuka tha. Aunty naina k baray main sab kuch jaan chuki

thien. Aur aunty ko apnay paros main hi sex partner mil gaya tha

jaisay aunty apni sehlailion k saath enjoy kia karti thien aur naina

ko bhi sex main satisfaction milna shuru ho gayee thi wo bhi aik

experienced khatoon k hathon.

Raat ko aunty aur naina payar karnay k baad aisay hi bed pay nangi

laiti hui thien. Naina ab mentaly satisfied ho gayee thi aur aunty

sexually. Aunty nay phir naina say ghar janay ki ijazat mangi yeh keh

kar k tum so jao wesay bhi thori dair main subha ho jaye gi. Naina nay

ok kar dia. Dono nay laitay laitay aik doosray ko kiss kia aur aunty

nay payar say naina k hips say do thapar raseed kar diay yeh kehtay

huay k in ka ilaj karna paray ga bahot phool rahay hain. hahahahaha.

Naina ji aunty zaroor yeh to abhi bhi hazir hain aap kar dain ilaj aur

apnay hips aunty ki tarf kar diay.

Aunty: Aray abhi nahi next time. Chal ab tu bhi kapray pehn lay.

Naina: Nahi aunty aaj aisay hi sonay ka man kar raha hay.

Aunty: Aray kia nangi hi main gate band karnay aye gi? Aur aunty nay

apnay kapray pehn liay.

Naina: Aray haan. heheheh aur jaldi say kameez aur shalkwar pehn li.

Dono then gate ki tarf chali gayeen aur aunty apnay ghar chali gayeen

aur naina wapis aa gaye bed pay lait gayee aur shaan k baray main

sochnay lagi.

Usay paka yakeen ho gaya tha k us larki nay Shaan ko jaal main phansa

lia hay aur isi liay shaan ka ab ghar main dil nahi lagta. Socha k

apnay parents ko sab kuch bata day. Laiken yeh soch k na batanay ka

irada kia k wo khud fight karay gi is saray mamlay main aur shaan ka

saath bhi nahi choray gi chahay shaan kitna hi zulm kiun na kar lain.

Phir naina aunty k baray main sochnay lagi k nahi jo aunty kahain gi

bus main wo karoon gi kiun k aunty nay poori dunia daikhi hay aur wo

behtre mashwara day sakti hain k kis situation main kia karna hay. Yeh

sochtay sochtay naina ki aankh lag gayee.

kramashah..........


raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:19

नैना--पार्ट-22

गतान्क से आगे.......

उधर शान और सोना काफ़ी देर यू ही लेटे रहे और फिर सोना को शान का वज़न

अपने ऊपेर फील होना शुरू हो गया जो बिल्कुल नंगा हो कि सोना के ऊपेर लेटा

हुआ था. सोना ने शान को अपने ऊपेर से हटाया जिस से शान की आँख खुल गयी.

सोना: सॉरी जानू. लीप पे किस करते हुए. आइ नीड टू गो टू वॉशरूम.

शान: मुहाआ लिप्स पे जवाब देते हुए. यप लेट्स गो टू वॉशरूम.

दोनो उठ के वॉशरूम मे चले गये. वॉशरूम मे जा के सोना ने शान से कहा जानू

तुम्हारा लंड तो बहोत मोटा है. जब तुम ने ऐक दम से पूरा अंदर डाला था तो

बस मेरी तो जान ही निकल गयी थी. उफफफ्फ़ जानू केसे बर्दाश्त किया होगा

नैना ने यह मोटा लंड सुहाग रात को? हहेहहे.

शान: बस ले लिया उसे बहोत तकलीफ़ हुई थी. लेकिन सोना जानू तुम्हारी चूत

बहोत रसीली है. दिल करता है बस लंड डाल के सो जाए बंदा.

सोना: तो जनाब आज आप ऐसे ही तो सोए थे? भूल गये क्या? हहहे. अगर मैं

वॉशरूम के लिये ना उठ.ती तो जनाब को होश ही कहाँ था.

सोना ने वहाँ शान के सामने ही अपनी चूत को वॉश किया और इसी तरहा शान ने

भी अपने लंड को वॉश काइया और शान सिर्फ़ अंडरवेर और सोना नाइटी पहन के

बेड पे आ गये और आपस मे लिपट के बाते करने लगे.

-----------------

थोड़ी देर यौं ही बाते होती रही और अचानक सोना को मस्ती सूझी और उस ने

शान को कहा कि आओ ज़रा मोम के रूम का चक्कर लगा के आते हैं.

शान: वो क्यू?

सोना: अरे आओ ना. देखते हैं वहाँ क्या हो रहा है.

शान: ओके और दोनो स्लोली मोम के रूम के पास चले गये और डोर ऐसे ही ओपन था

जो सोना ने ओपन किया था.

अंदर सोना की मोम डोगी स्टाइल मे थी और वो यंग लड़का आंटी को बॅक से

शॉट्स लगा रहा था. आंटी मज़े मे गुम थी और नशे मे गंदी गंदी लॅंग्वेज

यूज़ कर रही थी. चोद डालो मुझे, यह चूत तुम्हारी है, हाहहहाहा, रंडी के

बच्चे चोद दे इस छूट को. शान को यह सब सुन के बहोत अजीब फील हुआ कि ऐक

औरत भी ऐसी ओपन बाते कर सकती है. बट सोना यह एंजाय कर रही थी.

अचानक आंटी की नज़र सोना पे पड़ गयी और सेक्स के दौरान भी सोना को आवाज़

दी. अया अया आहह सोना डू यू नीड हिज़ हार्ड कॉक इन युवर पुसी?

सोना ने शान को आगे कर दिया आंटी की नज़र शान पे पड़ गयी जिस से आंटी समझ

गयी कि सोना के पास भी इंतेज़ाम है चूत की आग ठंडी करने का. सो बोली आअहह

एंजॉययय्यययययययी माइ बेबी एंजाय.

शान को अपनी आँखों पे यकीन नही हो रहा था कि इतना ज़यादा ओपन महॉल है इस

घर का कि माँ किसी गैर मर्द से चुदवा रही है और अपनी बेटी को ऑफर कर रही

है कि आ के वो भी चुदवा ले जब कि बेटी अपने बाय्फ्रेंड को सामने कर रही

है कि नही उस के पास इंतेज़ाम है. बहुत ही ज़यादा ओपन फॅमिली हे यह तो.

शान यही सोच रहा था कि सोना की आवाज़ उस के कान से टकराई.

सोना: ओ हेलो जानू किन सोचों मे गुम हो गये?

शान: ओह कुछ नही आइ वाज़ थिंकिंग कि....

सोना: यही थिंकिंग ना कि इतना ओपन मेहोल?

शान: यप एग्ज़ॅक्ट्ली.

सोना: आक्च्युयली हम लोगों ने बचपन से यह सब दैखा है, पार्टीस, ओपन

ड्रिंकिंग, लेट नाइट डॅनसस आंड डॅनसस मे जो जो कुछ होता था सब को पता था

कभी ऐक की वाइफ दूसरे के पास और दूसरे की वाइफ तीसरे के पास. और शराब के

नशे मे डॅन्स कि साथ साथ और भी बहोत कुछ होता हे और हाथ कहाँ से कहाँ तक

पहॉंच जाते हैं. मैं तो हैरान हूँ कि तुम इतने पढ़े लिखे हो कि इतने

मॉडर्न हो कि भी यह सब नही करते?

शान: नही हम लोग पढ़े लिखे हैं अड्वॅन्स्ड हैं बट हम लोग अपनी इज़्ज़त का

ख़याल रखते हैं.

सोना: (यह बात सुनते ही आग बन गयी और बहोत गुस्से मे आ गयी) तुम्हे क्या

लगता है शान हम लोग यहाँ अपनी इज़्ज़त बैचते हैं? हम लोग बेशरम हैं बेहया

हैं? अरे यह सब रिक्वाइर्मेंट है अमीर लोगों की. पार्टीस, गॅदरिंग, शराब,

शबाब यही सब तो होता है अमीर लोगों के पास. तुम जेसे लोग बस अपनी इज़्ज़त

को ही रोते रहना. अगर तुम्हे अपनी इज़्ज़त का इतना ही ख़याल है तो क्यो

आते हो मेरे पास? क्या थोड़ी देर पहले जब तुम मुझे चोद रहे थे उस वक़्त

कहाँ थी तुम्हारी इज़्ज़त? ऐक बीबी के होते हुए मुझे चोदते हुए इज़्ज़त

नही नज़र आती तुम्हे?

शान: आइ आम रियली सॉरी जानू. आइ डिड नोट मीन दट. आक्च्युयली ऐसी पार्टीस,

ऐसी गॅदरिंग मे कभी गया नही ना, कॉज़ मॉम आंड डॅड नही जाते थे या अगर

जाते थे तो मुझे साथ नही ले के जाते थे सो डोंट नो ना. लेकिन अब तुम से

मिल गया हूँ तो सब सीख जाउन्गा. प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ डोंट

माइंड.

सोना: ओके फर्स्ट आंड लास्ट टाइम. आइन्दा कभी भी ऐसी बात की ना तो डोंट

नीड टू कम हियर. अंडरस्टॅंड?

शान: जी जानू. ओके अब प्ल्ज़ घुसा साइड पे फैंको और लेट्स गो टू बेडरूम.

यह वोही शान था जो नैना पे हूकम चलता था. उसे चांटा तक रसीद कर दिया.

ळैकेन सोना के सामने तो ऐसे भीगी बिल्ली बना हुआ था जेसे सोना ने उसे

छोड़ दिया तो वो कहीं का नही रहे गा. शान सोना से ऐक पल के लिये भी दूर

नही होना चाहता था. और यही वजह थी कि वो सोना की तमाम बाते खामोशी से सुन

गया और कुछ बोला भी नही और एक्सक्यूस भी किया.

बेड रूम मे जा के शान ने सोना से बाते करना चाहीं बट सोना का मूड ऑफ हो

चुका था सो उस ने शान को सोने का इशारा किया और इस तरहा दोनो बेड पे सो

गये. अगले दिन आँख खुली तो सुबह के 10 बज रहे थे. शान ऑफीस से पूरे 1:30

घंटे लेट हो चुका था. जल्दी से उठा वॉशरूम गया और जा के बाथ लेने लगा.

थोड़ी ही देर मे सोना भी वॉशरूम मे आ गयी.

सोना: गुड मॉर्निंग जानू. कहाँ की तैयारी है?

शान: जानू लेट हो गया हूँ ऑफीस से टाइम दैखो?

सोना: ओह जानू. आज ऑफीस नही.

शान: पर सोना वो ज़रूरी है जाना.

सोना: मूड खराब करते हुए. ओके जाओ फिर इधर ना आना.

शान: जानू प्ल्ज़ ट्राइ टू अंडरस्टॅंड ना.

सोना: मैं ने कह दिया. आज या तो ऑफीस या तो सोना. डिसाइड कर लो मैं जा

रही हूँ बेड पे.

शान को मजबूरन सोना की हां मे हां मिलानी पड़ी और इस तरहा शान की रात भर

की सेक्स से भरी एंजाय्मेंट के बाद ऐक बुरे दिन का अगाज़ हुआ कि वो आज

ऑफीस भी नही जा सका.

------------------

इधर नैना की आँख सुबह जल्दी ही खुल गयी थी और नैना ने आज सुबह ही बाथ

लिया और ऐक दम फ्रेश हो कर नाश्ता बनाने लगी. आज नैना को शान की कुछ

ज़यादा फिकर नही हो रही थी और ना ही शान को वो मिस कर रही थी. वो अपने आप

मे ही मस्त थी और रात को होने वाले आंटी के प्यार को याद कर कर के

मुस्कराती और दिल ही दिल मे आंटी का थॅंक्स करती.

थोड़ी देर मे लॅंडलाइन फोन रिंग हुआ फोन उठाने पे पता चला कि आंटी हैं.

आंटी ने नैना को ऑफर लगाई कि वो आज मेरे साथ मैरे ऑफीस चले थोड़ा काम है

और फिर वापिस आ जाएँगे. नैना ने फ़ौरन हामी भर ली जाने की. रेडी और फ्रेश

तो वो ऑलरेडी थी. सो उस ने आंटी को हां बोल दिया. आज के दिन चेंज यह आया

था कि नैना ने शान से इजाज़त लेना मुनासिब नही समझा क्योकि उसे पता था कि

शान को उसकी कोई फिकर नही हे जिये या मरे. और पिछले कुछ दिन के होने वाले

इन्सिडेंट्स से तो कन्फर्म हो गयी थी यह बात. नैना अपने बेड रूम मे चली

गयी और जा के बेड शीट ठीक करने लगी और तकिये अपनी जगा पे रखने लगी जो रात

को प्यार के दौरान इधर उधर हो गये थे. बेड शीट सीधी करने पे उसे बेड शीट

पे रात को होने वाले प्यार के निशान भी दिखे जो आंटी और नैना क़ी चूत से

निकलने वाले पानी के थे. नैना को वो निशान दैख के काफ़ी अछा लगा और ऐक

मर्तबा फिर रात का पूरा सीन याद आ गया. दिल ही दिल मे मुस्करा दी और बेड

शीट नयी बिछा दी.

उस के बाद अपने आप को ऊपेर से नीचे तक शीशे मे दैखा. उसी लगा कि ड्रेस

ठीक नही है यह फॉर ऑफीस सो ड्रेस सेलेक्ट करने लगी. थोड़ी देर मे उस ने

बेबी पिंक कलर का ड्रेस सेलेक्ट किया और उस के साथ मॅचिंग मे पिंक ब्रा

और वहाँ खड़े खड़े ही ड्रेस चेंज करने लगी. चेंजिंग के दौरान उस ने अपनी

बॉडी को शीशे मे दैखा और मुस्कुराने लगी. और ड्रेस पहन के रेडी हो के

टीवी लाउंज मे आ आंटी का वेट करने लगी.

थोड़ी ही देर मे आंटी भी आ गयीं और नैना अपना पर्स उठा के तमाम डोर्स लॉक

कर के आंटी के साथ हो चली. गाड़ी मे बैठते ही आंटी ने नैना को ऊपेर से

नीचे तक ऐक नज़र दैखा और बोली कि नैना क्या आज तुम घर से इरादा कर के आइ

हो कि मेरे ऑफीस के स्टाफ को घायल करना है अपने ऊपेर?

नैना: अरे नही आंटी जी आप के होते हुए भला मैं केसे घायल कर सकती हूँ. सब

के लिये आप ही काफ़ी हैं.

आंटी ने गाड़ी चला दी और दोनो बाते करने लगी. नैना आज काफ़ी खुश थी. अपने

आप को आज़ाद फील कर रही थी. शान के बारे मे उस के दिमाग़ मे आज कोई सोच

ना थी. मौसम भी काफ़ी नाइस हो रहा था ना ठंड थी और ना ही गर्मी. आंटी ने

साथ साथ स्लो म्यूज़िक भी प्ले कर दिया.

नैना: आंटी कितना दूर है आप का ऑफीस यहाँ से?

आंटी: ज़्यादा दूर नही है हार्ड्ली 20 तो 30 मिनट की ड्राइव पे है.

नैना: ओके. वेसे आंटी आप ने पर्फ्यूम बहुत मज़े का लगाया हुआ है.

आंटी: यॅ इट्स माइ फेव ओर यही पर्फ्यूम आर्यन का भी फेव था. सो आर्यन के

गुज़र जाने के बाद भी मैं यही यूज़ करती हूँ. वेसे नैना तुम आज बहोत

प्यारी लग रही हो और बहोत खुश भी.

नैना: थॅंक्स आंटी जी यह सब आप की वजा से ही तो है. वरना मैं कहाँ और यह

खुशी कहाँ. मैं तो भूल ही गयी थी कि खुशी भी कोई चीज़ होती है मगर आप ने

मुझे ऐक नयी ज़िंदगी दे दी.

आंटी: जाओ जाओ अब बाते ना बनाओ. वेसे तुम्हे दैख के मेरे मन मे शैतान

दौड़ने लग गया है तो मेरे ऑफीस के स्टाफ का क्या हाल होगा. हहेहहे

नैना: कोई हाल नही होगा. अगर हुआ भी तो आप के साथ हूँ गी ना तो आप के

सामने कोई नही बोले गा. वेसे आप अपने स्टाफ के साथ कितना फ्री हैं?

आंटी: ज़यादा नही. बस काम की हद तक जो बात होती है वोही होती हे. वेसे भी

आर्यन ऑफीस के सिस्टम्स इतने स्ट्रॉंग बना गये थे कि मुझे ऑफीस के सिर्फ़

3 या 4 लोगों से बात करनी पड़ती है बाक़ी वो खुद हॅंडल कर लेते हैं.

नैना: थ्ट्स वेरी नाइस. अछा ऑफीस मे आप पे सब से ज़यादा कोन मरता है? हहेहहे

आंटी: मरते तो सब ही हैं मगर राजा साहब तो कुछ ज़यादा ही मरते हैं. उनका

बस चले तो मुझे कच्चा खा जाए. बेचारे रोज़ाना घर जा कर अपनी बीबी मे मुझे

ढूढ़ते हों गे. हाहहहाहा

नैना: हाहहहहहाहा तो आप ख़याल क्यो नही करती उन बेचारे राजा जी का.

आंटी: अरे पागल हो गयी है क्या? बड़े कहते हैं कि आशिकी, लड़ाई, शैतानी

काम, चोरी, डाका, ऐसे तमाम काम अपने एलाके मे नही करने चाहिए. ऐसा अगर

कोई काम करना हो तो किसी ऐसे इलाक़े मे जा के करो जहाँ आप को कोई नही

जानता. समझी? और ऑफीस तो मैरा अपना है भला मैं वहाँ ऐसे काम क्यो करूँ

गी? और मैं हूँ भी बॉस. अगर मैं अपने किसी एंप्लायी के साथ इतना आगे जाऊं

गी तो मेरी क्या इज़्ज़त रह जाए गी?

नैना: आंटी बात तो आप ने बिल्कुल ठीक कही. वेसे यह जो अपने एलाके वाली

बात की ना यह मुझे बहोत पसद आइ. एक्सपीरियेन्स्ड लोगों के साथ बात करने

का यह तो फ़ायदा होता है कि काम की बाते भी सुन.ने को मिल जाती हैं.

आंटी: चलो अब ज़यादा तारीफ ना करो उतरो ऑफीस आ गया है. बाक़ी बाते ऑफीस

मे जा के करते हैं.

क्रमशः..........

naina--paart-22

gataank se aage.......

Udhar shaan aur sona kaafi dair you hi laitay rahay aur phir sona ko

shaan ka wazan apnay ooper feel hona shuru ho gaya jo bilkul nanga ho

k sona k ooper laita hua tha. Sona nay shaan ko apnay ooper say hataya

jis say shaan ki aankh khul gayee.

Sona: Sorry janu. Lip pay kiss kartay huay. I need to go to washroom.

Shaan: Muhaaa lips pay jawab daity huay. Yup lets go to washroom.

Dono uth k washroom main chalay gaye. Washroom main ja k sona nay

shaan say kaha janu tumhara lund to bahot mota hay. Jab tum nay aik

dum say poora andar dala tha to bus meri to jaan hi nikal gayee thi.

Uffff Janu kesay bardasht kia hoga naina nay yeh mota lund suhaag

raaat ko? hehehehe.

Shaan: bus lay lia usay bahot takleef hui thi. Laiken sona janu

tumhari choot bahot raseeli hay. Dil karta hay bus lund daal k so jaye

banda.

Sona: To janab aaj aap aisay hi to soye thay? Bhool gaye kia? hehehe.

Agar main washroom k liay na uth.ti to janab ko hosh hi kahan tha.

Sona nay wahan shaan k samnay hi apni choot ko wash kia aur isi tarha

shaan nay bhi apnay lund ko wash kia aur shaan sirf underwear aur sona

nighty pehn k bed pay aa gaye aur apas main lipat k batain karnay

lagay.

-----------------

Thori dair youn hi batain hoti rahien aur achanak sona ko masti sooji

aur us nay shaan ko kaha k aao zara mom k room ka chakar laga k aatay

hain.

Shaan: Wo kiun?

Sona: Aray aao na. Daikhtay hain wahan kia ho raha hay.

Shaan: Ok aur dono slowly mom k room k paas chalay gaye aur door aisay

hi open tha jo sona nay open kia tha.

Andar sona ki mom dogy style main thien aur wo young larka aunty ko

back say shots laga raha tha. Aunty mazay main gum thien aur nashay

main gandi gandi language use kar rahi thien. Chod daalo mujhay, Yeh

choot tumhari hay, Hahahahaha, Randi k bachay chod day is choot ko.

Shaan ko yeh sab sun k bahot ajeeb feel hua k aik aurat bhi aisi open

batain kar sakti hay. But sona yeh enjoy kar rahi thi.

Achanak aunty ki nazar sona pe par gayee aur sex k dauran bhi sona ko

awaz di. Aaah aaah aahhhhhhhhhhh sona do you need his hard cock in

your Pussy?

Sona nay shaan ko agay kar dia aunty ki nazar shaan pay par gayee jis

say aunty samaj gayee k sona k paas bhi intezam hay choot ki aag

thandi karnay ka. So bolien aaahhhhhhhhhhhhhhh enjoyyyyyyyyyyy my baby

enjoy.

Shaan ko apni ankhon pay yakeen nahi ho raha tha k itna zayada open

mahol hay is ghar ka k maan kisi ghair mard say chudwa rahi hay aur

apni beti ko offer kar rahi hay k aa k wo bhi chudwa lay jab ko beti

apnay boyfriend ko samnay kar rahi hay k nahi us k paas intezam hay.

Bahot hi zayada open family hay yeh to. Shaan yehi soch raha tha k

sona ki awaz us k kaan say takrai.

Sona: O hello janu kin sochon main gum ho gaye?

Shaan: Oh kuch nahi i was thinking k....

Sona: Yehi thinking na k itna open mahole?

Shaan: Yup exactly.

Sona: Actually ham logon nay bachpan say yeh sab daikha hay, parties,

open drinking, Late night dances and dances main jo jo kuch hota tha

sab ko pata tha kabhi aik ki wife doosray k pass aur doosray ki wife

teesray k paas. Aur sharab k nashay main dance k saath saath aur bhi

bahot kuch hota hay aur haath kahan say kahan tak pahonch jatay hain.

Main to hairan hoon k tum itnay parhay likhay ho k itnay modern ho k

bhi yeh sab nahi kartay?

Shaan: Nahi hum log parhay likhay hain advanced hain but hum log apni

izat ka khayal rakhtay hain.

Sona: (Yeh baat suntay hi aag ban gayee aur bahot ghusay main aa

gayee) Tumhain kia lagta hay shaan hum log yahan apni izat baichtay

hain? Hum log besharam hain behaya hain? Aray yeh sab requirement hay

ameer logon ki. Parties, Gathering, Sharab, Shabab yehi sab to hota

hay ameer logon k paas. Tum jesay log bus apni izat ko hi rotay rehna.

Agr tumhain apni izat ka itna hi khayal hay to kiun atay ho meray

paas? Kia thori dair pehlay jab tum mujhay chod rahay thay us waqt

kahan thi tumhari izat? Aik bv k hotay huay mujhay chod.tay huay izat

nahi nazar aati tumhain?

Shaan: I am really sorry janu. I did not mean that. Actually aisi

parties, aisi gathering main kabhi gaya nahi na, Coz mom and dad nahi

jatay thay ya agar jatay thay to mujhay sath nahi lay k jatay thay so

dont know na. Laiken ab tum say mil gaya hoon to sab seekh jaaon ga.

Plzzzzzzzzzz dont mind.

Sona: Ok first and Last time. Ainda kabhi bhi aisi baat ki na to dont

need to come here. Understand?

Shaan: Ji janu. Ok ab plz ghusa side pay phainko aur lets go to bedroom.

Yeh wohi shaan tha jo naina pay hukam chalata tha. Usay chanta tak

raseed kar dia. Laiken sona k samnay to aisay bheegi bili bana hua tha

jesay sona nay usay chore dia to wo kaheen ka nahi rahay ga. Shaan

sona say aik pal k liay bhi door nahi hona chahta tha. Aur yehi waja

thi k wo sona ki tamam batain khamoshi say sun gaya aur kuch bola bhi

nahi aur excuse bhi kia.

Bed room main ja k shaan nay sona say batain karna chaheen but sona ka

mood off ho chuka tha so us nay shaan ko sonay ka ishara kia aur is

tarha dono bed pay so gaye. Aglay din aankh khuli to subha k 10 baj

rahay thay. Shaan office say pooray 1:30 hr late ho chuka tha. Jaldi

say utha Washroom gaya aur ja k baath lainay laga. Thori hi dair main

sona bhi washroom mai aa gayee.

Sona: Good morning janu. Kahan ki tiari hay?

Shaan: Janu late ho gaya hoon office say time daikho?

Sona: Oh janu. Aaj office nahi.

Shaan: Per sona wo zaroori hay jana.

Sona: Mood kharab kartay huay. Ok jao phir idhar na aana.

Shaan: Janu plz try to understand na.

Sona: Main nay keh dia. Aaj ya to office ya to sona. decide kar lo

main ja rahi hoon bed pay.

Shaan ko majbooran sona ki haan main haan milani pari aur is tarha

shaan ki raat bhar ki sex say bhari enjoyment k baad aik buray din ka

aghaz hua k wo aaj office bhi nahi ja saka.

------------------

Idhar naina ki aankh subha jaldi hi khul gayee thi aur naina nay aaj

subha hi bath lia aur aik dum fresh ho kar nashta bananay lagi. Aaj

naina ko shaan ki kuch zayada fikar nahi ho rahi thi aur na hi shaan

ko wo miss kar rahi thi. Wo apnay aap main hi mast thi aur raat ko

honay walay aunty k payar ko yaad kar kar k muskrati aur dil hi dil

main aunty ka thanks karti.

Thori dair main landline phone ring hua phone uthanay pay pata chala k

aunty hain. Aunay nay naina ko offer lagayee k wo aaj meray saath

mairay office chalay thora kaam hay aur phir wapis aa jain gay. Naina

nay fauran haami bhar li janay ki. Ready aur fresh to wo already thi.

So us nay aunty ko haan bol dia. Aaj k din change yeh aya tha k naina

nay shaan say ijazat laina munasib nahi samjha kiun k usay pata tha k

shaan ko uski koi fikar nahi hay jiay ya maray. Aur pichlay kuch din k

honay walay incidents say to confirm ho gayee thi yeh baat. Naina

apnay bed room main chali gayee aur ja k bed sheet theek karnay lagi

aur takiay apni jaga pay rakhnay lagi jo raat ko payar k dauran idhar

udhar ho gaye thay. Bed sheet seedhi karnay pay usay bed sheet pay

raat ko honay walay payar k nishan bhi dikhay jo aunty aur naina k

choot say nikalnay walay pani k thay. Naina ko wo nishan daikh k kafi

acha laga aur aik martaba phir raat ka poora scene yaad aa gaya. dil

hi dil main muskra di aur bed sheet nayee bicha di.

Us k baad apnay aap ko ooper say neechay tak sheeshay main khara

daikha. Usy laga k dress theek nahi hay yeh for office so dress select

karnay lagi. Thori dair main us nay baby pink color ka dress select

kia aur us k sath matching main pink bra aur wahan kharay kharay hi

dress change karnay lagi. Changing k dauran us nay apni body ko

sheeshay main daikha aur muskuranay lagi. Aur dress pehn k ready ho k

tv lounge main aa aunty ka wait karnay lagi.

Thori he dair main aunty bhi aa gayeen aur naina apna purse utha k

tamam doors lock kar k aunty k saath ho chali. Gari main baithtay hi

aunty nay naina ko ooper say neechay tak aik nazar daikha aur bolien k

naina kia aaj tum ghar say irada kar k i ho k meray office k staff ko

lattoo karna hay apnay ooper?

Naina: Aray nahi aunty ji aap k hotay huay bhala main kesay latoo kar

sakti hoon. Sab k liay aap hi kaafi hain.

Aunty nay gari chala di aur dono batain karnay lagien. Naina aaj kafi

khush thi. Apnay aap ko aazad feel kar rahi thi. Shaan kay baray main

us k zehn main aaj koi soch na thi. Mausam bhi kafi nice ho raha tha

na thand thi aur na hi garmi. Aunty nay saath saath slow music bhi

play kar dia.

Naina: Aunty kitna door hay aap ka office yahan say?

Aunty: Zyada door nahi hay hardly 20 to 30 min ki drive pay hay.

Naina: Ok. Wesay aunty aap nay perfume bht mazay ka lagaya hua hay.

Aunty: Yeah its my fav or yehi perfume arayan ka bhi fav tha. So

arayan k guzar janay k baad bhi main yehi use karti hoon. Wesay naina

tum aaj bahot payari lag rahi ho aur bahot khush bhi.

Naina: Thanks aunty ji yeh sab aap ki waja say hi to hay. Warna main

kahan aur yeh khushi kahan. Main to bhool hi gayee thi k khushi bhi

koi cheez hoti hay magar aap nay mujhay aik nayee zindagi day di.

Aunty: Jao jao ab batain na banao. Wesay tumhain daikh k meray mun

main shaitan daurnay lag gaya hay to meray office k staff ka kaya haal

hoga. hehehehe

Naina: Koi haal nahi hoga. Agar hua bhi to aap k saath hoon gi na to

aap k samnay koi nahi bolay ga. Wesay aap apnay staff k saath kitna

free hain?

Aunty: Zayada nahi. Bus kaam ki had tak jo baat hoti hay wohi hoti

hay. Wesay bhi arayans office k systems itnay strong bana gaye thay k

mujhay office k sirf 3 ya 4 logon say baat karni parti hay baqi wo

khud handle kar laitay hain.

Naina: Thats very nice. Acha office main aap pay sab say zayada kon

latoo hay? hehehehe

Aunty: Latoo to sab hi hain magar raja sahab to kuch zayada hi latoo

hain. Unka bus chalay to mujhay kacha kha jain. Becharay rozana ghar

ja kar apni bv main mujhay dhoondtay hon gay. hahahahaha

Naina: Hahahahahahaha to aap khayal kiun nahi karti un becharay raja ji ka.

Aunty: Aray pagal ho gayee hay kia? Baray kehtay hain k aashqi,

larayee, shaitani kaam, chori, daaka, aisay tamam kaam apnay elaqay

main nahi karnay chahian. Aisa agar koi kaam karna ho to kisi aisay

ilaqay main ja k karo jahan aap ko koi nahi janta. Samjhi? Aur office

to maira apna hay bhala main wahan aisay kaam kiun karoon gi? Aur main

hoon b boss. Agar main apnay kisi employee k saath itna agay jaoon gi

to meri kia izat reh jaye gi?

Naina: Aunty baat to aap nay bilkul theek kahee. Wesay yeh jo apnay

elaqay wali baat ki na yeh mujhay bahot pasad i. Experienced logon k

saath baat karnay ka yeh to faida hota hay k kaam ki batain bhi

sun.nay ko mil jati hain.

Aunty: Chalo ab zayada tareefain na karo utro office aa gaya hay. Baqi

batain office main ja k kartay hain.

kramashah..........


raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:20

नैना--पार्ट-23

गतान्क से आगे.......

सीन चेंज (शान आंड सोना).

जेसा कि शान को मजबूरन सोना की हां मे हां मिलानी पड़ी और इस तरहा शान की

रात भर की सेक्स से भरी एंजाय्मेंट के बाद ऐक बुरे दिन का अगाज़ हुआ कि

वो आज ऑफीस भी नही जा सका था. अब सुबह क 11 बज रहे थे लैकेन सोना थी कि

उठ ही नही रही थी. शान ने सोना को उठाने की कोशिस की मगर सोना ने यह कह

दिया कि जानू सोने दो ना रात भर सोने नही दिया अब तो सोने दो और दोबारा

सो गयी.

शान अब बोर होना शुरू होगया था. सो शान उठा और रूम से बाहर निकल गया. रूम

से बाहर जाते हुए शान सोना की मोम के रूम के पास से गुज़रा, डोर ऐसे ही

थोड़ा ओपन था शान ने थोड़ा आगे हो के दैखा तो आंटी ओर वो लड़का दोनो बेड

पे नंगे लेटे गहरी नींद सो रहे थे. और साइड टेबल पे शराब की खाली

बोतटेल्स और यूज़्ड सिगरेतटेस पड़े हुए थे. शान अभी यही दैख रहा था कि

शान को ऐक आवाज़ ने चौंका दिया.

शान ने पीछे मूड के दैखा तो तकरीबन 30 साल की ऐक औरत खड़ी थी. साहब जी,

कहने से शान को यकीन हो गया था कि वो इस घर की नौकरानी है. शान को बहोत

शरम आइ कि नोकरानि ने उसको इस हालत मे दैखा जब वो उसकी मालिकिन के कमरे

मे झाँक रहा था और उसकी नंगी मलिकान को दैख रहा था. शान कुछ नही बोला और

बाहर लॉंग्ज मे जा के न्यूसपेपर पढ़ने लगा.

वो नौकरानी शान के पीछे चलती चलती शान के करीब आ के खड़ी हो गयी. शान ने

पूछा क्या बात है?

नौकरानी: साहब नाश्ता लगा दूं?

शान: सोना उठा जाए तो इकट्ठे कर लेंगे.

नौकरानी: साहब जी वो तो 12 या 12:30 से पहले नही उठेंगी. और वो उठ के

नाश्ता नही करती सिर्फ़ जूस पीती हैं.

शान:ओके ठीक लगा दो नाश्ता. और सामने पड़े टीवी रिमोट से टीवी ऑन कर लिया

और न्यूज़ देखने लगा.

थोड़ी देर मे शान को घर मे इधर उधर लोग नज़र आना शुरू होगये, माली बाहर

पानी लगा रहा था लॉन मे, ऐक काम वाली डस्टिंग कर रही थी, ऐक बंदा बाहर

खड़ी गाडियो को वॉश कर रहा था. शान ने डाइनिंग टेबल की तरफ़ दैखा तो वहाँ

उस औरत के साथ ऐक एज्ड बंदा भी था जो उस कि साथ टेबल पे नाश्ता लगाने मे

हेल्प कर रहा था.

इन सब को दैख कर शान के दिमाग़ मे फ़ौरन यह ख़याल आया कि यह सब आ गये हैं

और ऊपेर सोना का मोम का रूम का दरवाज़ा ओपन है जहाँ वो दोनो नंगे लेटे

हैं. कितनी बेशर्मी है यहाँ. और पता नही कितनी दफ़ा आते जाते यह नोकर

इनको इस हालत मे देखते हों गे. नोकर भी क्या सोचते हों गे? घर के तमाम

लोगों की क्या इज़्ज़त होगी नोकरों की नज़र मे?

शान के जहन मे ऐक दम से कयी ख़यालात ने जनम ले लिया. शान अभी यही सोच रहा

था कि शान के कान मे उस एज्ड आदमी की आवाज़ आइ. साहब जी नाश्ता लग गया है

आप नाश्ता कर लो

शान उठा और जा के नाश्ते की टेबल पे जा के बैठ गया. टेबल पे तरहा तरहा की

चीज़े अवेलबल थी. नाश्ता इतना कुछ तैयार हुआ पड़ा था जो कि घर के तमाम

लोग और यह तमाम नोकर भी खा ले तो तब भी कुछ ना कुछ बच जाए.

शान ने उस एज्ड आदमी को आवाज़ लगाई वो एज्ड आदमी दौड़ता हुआ आया जी साहब जी.

शान: आअप का नाम क्या है?

नोकर: जी मन्नू नाम है जी मेरा.

शान: अछा यह इतना ज़यादा नाश्ता क्यो बना दिया? खाने वाला तो सिर्फ़ मैं हूँ अकेला?

मन्नू: बस जी यह सब अमीरों के स्टाइल्स हैं. ऊपेर वाला उन्हे दोनो हाथों

से दे रहा है और वो उसी स्पीड से खर्च भी कर रहे हैं.

शान: मन्नू आप यहाँ बैठो मुझे आप से ऐक बात पूछनी है.

मन्नू: जी पूछिये साहब और मन्नू नीचे ज़मीन पे बैठ गया.

शान: अरे नही भाई यहाँ ऊपेर बैठो चेर पे मेरे साथ.

मन्नू: नही साहब यह जगह तो मालिक लोगों की है. हम नोकरों की जगह तो यहाँ नीचे है.

शान: गुस्से से मैं ने कहा ना कि यहाँ बैठो ऊपेर.

मन्नू डर सा गया और ऊपेर आ के बैठ गया.

शान: हां यह हुई ना बात. अछा यह बताओ कि यह लड़का कॉन है जो रात मेडम के

साथ आया था?

मन्नू: जी हमे नही पता. मेडम के साथ पहले भी ऐक दो दफ़ा आया था. अब हम

लोगो की इतनी जुरत कहाँ कि हम इन से पूछे कि यह कोन है.

शान: ओके. अछा तुम्हारे एलॉवा और कितने लोग इस घर मे काम करते हैं?

मन्नू अभी कुछ बोलने ही वाला था कि दूसरी तरफ़ से सोना किसी शेरनी की

तरहा चीखती हुई आइ.

मन्नू हाउ डेर यू टू सिट बिसाइड शान? तुम्हे पता नही कि तुम्हारी जगह

वहाँ नीचे है? गेट लॉस्ट फ्रॉम हियर. मन्नू डरते डरते उठा और शान की तरफ

इस नज़र से दैखा जेसे कह रहा हो कि मैं ने कहा नही था कि मेरी जगह वहाँ

नीचे ही है और किचन मे चला गया.

सोना फिर शान की तरफ़ मूडी और बोली तुम से थोड़ी देर सबर नही होसकता था.

मैरा वेट तो कर लेते, इकट्ठे नाश्ता करते.

शान पहले कहने ही लगा था कि वो उस नौकरानी ने कहा था कि तुम 12 या 12:30

से पहले नही जागो गी लैकेन फिर मन्नू की हालत दैख कर सारी बात अपने ऊपेर

ही डाल ली और बोला.

आक्च्युयली पूरी रात तुम्हारे साथ सेक्स मे मेहनत की ना तो पेट खाली हो

गया था. सो मुझे सख़्त भूक लग रही थी. और तुम्हे डिस्टर्ब करना मुनासिब

नही समझा.

शान की इस बात से सोना का टेम्परेचर थोड़ा डाउन हुआ और शान के साथ आ के बैठ गये.

सोना: यार तुम इन नोकरों को प्ल्ज़ इतना फ्री मत करो. इन्हे इनकी औक़त मे रहने दो.

शान: सोना मैं ने उसे कहा था कि ऊपेर बैठो वो तो बेचारा नीचे ही बैठा था.

सोना: कोई ज़रूरत नही है हमदर्दी करने की इन के साथ. साले काम के ना काज

के दुश्मन अनाज के.

शान को सोना के इस बिहेवियर के ऊपेर बहोत अफ़सोस हुआ. सोना का यह रूप शान

ने आज पहली दफ़ा दैखा था. खैर सोना ने फिर जूस का ग्लास लिया और शान को

यह कह कर चली गयी कि वो रेडी हो कर आती है देन वो कहीं निकलेंगे घूमने

फिरने. शान ने हां मे हां मिला दी और खामोशी से नाश्ता करने लगा और सोना

के बिहेवियर, मन्नू की बाते, आंटी का नेकेड हो के ऐसे ही बेफिकर हो के

सोना, इन के बारे मे सोचने लगा.

--------------------

सीन चेंज (नैना आंड आंटी)

इधर आंटी ने गाड़ी कार पार्किंग मे पार्क की और दोनो गाड़ी से उतार के

बिल्डिंग मे दाखिल होने लगी. नैना ने नीचे उतरते ही सनग्लास लगा लिये थे.

नैना ने आज बहोत फिटिंग मे ड्रेस पहना हुआ था. हेर्स शोल्डर्स तक रोल हो

के आ रहे थे. शर्ट का गला थोड़ा डीप था कि सामने से चेस्ट दिख रही थी.

ब्रा भी शायद आज थोड़ी टाइट थी कि ब्रेस्ट्स 90 डिग्री आंगल पे स्ट्रेट

हुए पड़े थे. और कुर्ते के नीचे टाइट ट्राउज़र मे थिएस और हिप्स तो ऐक आग

बरसा रहे थे. ओवरॉल नैना बिल्कुल ऐक ड्रीम गर्ल लग रही थी.

दोनो जैसे ही बिल्डिंग मे दाखिल हुए. सेक्यूरिटी गार्ड ने आंटी को सल्यूट

किया और फिर नैना की तरफ़ दैखा कुछ सेकेंड्स तक.

बिल्डिंग के अंदर सब लोगों की नज़र नैना पे ही थी. चलते चलते आंटी ने

नैना को बोला. नैना आइ आम गेटिंग जेलौस पहले यह सब मुझे दैखा करते थे और

आज यह सब तुम्हे दैख रहे हैं. और चलते चलते दोनो लिफ्ट मे चली गयीं.

4थ फ्लोर पे जा के लिफ्ट रुक गयी और दोनो लिफ्ट से बाहर आ गयीं.

आंटी: वो रहा सामने हमारा ऑफीस. आर्यन कनसल्टिंग. यह पूरा फ्लोर हमारे पास है.

दोनो बाते करती करती आगे चलने लगी. आंटी जहाँ जहाँ से गुज़रती स्टाफ खड़ा

हो जाता और हेलो बोलता. और नैना को ऐक नज़र ऊपेर से नीचे तक देखता.

नैना को यह सब क्लियर फील हो रहा था कि हर कोई उस के जिस्म को दैख रहा

है. चलते चलते आंटी बोली कि आज पूरा दिन कोई काम नही करे गा.

नैना: वो क्यो?

आंटी: आज यह सब सिर्फ़ बाते करेंगे .

नैना: बाते वो क्यो?

आंटी: अरे पगली आज तुम जो आइ हो ऑफीस मे. देखो केसे सब के मूँह खुले हुए

हैं. हाहहाहा और यह कहते हुए आंटी सामने Cएओ के रूम मे चली गईं और नैना

भी फॉलो करते हुए रूम मे दाखिल हो गयी.

नैना ने ऑफीस देखा तो हैरान हो गयी. बहुत ही फिट किसम का ऑफीस था सारा.

आंटी: केसा लगा ऑफीस?

नैना: इट्स अवेसम. बहुत खूबसूरत ऑफीस है बिल्कुल आप की तरहा. हहहे. दिल

करता है कि मैं इधर ही जॉब कर लूँ.

आंटी: व्हाट??????????????????? दोबारा बोलो क्या कहा?

नैना: यही कि इधर जॉब कर लूँ.

आंटी: अरे वाह तुम ने तो मैरे मूँह की बात छीन ली. मैं भी यही कहने वाली

थी कि घर मे अकेली बोर होती रहती हो वाइ डोंट यू जाय्न माइ ऑफीस?

नैना: नही आंटी जी वो तो मैं ने बस ऐसे ही मज़ाक मे कहा था. आइ नो शान

कभी भी राज़ी नही हों गे मेरी जॉब पे.

आंटी: तुम हो इंट्रेस्टेड कि नही?

नैना: जी इतनेरेस्टेड तो हूँ.

आंटी: तो बस तुम जॉब कर लो. शान कोन सा तुम्हारा ख़याल करता है. दो दिन

से घर नही आया और ना उस ने सुबह से तुम्हे फोन किया कि तुम कहा हो. उसे

क्या फिकर है तुम्हारी? बस अगर वो आता है घर तो उसे कह देना कि तुम ने

मैरे ऑफीस मे जॉब कर ली है. अगर कुछ बोले तो मुझे बता देना मैं हॅंडल कर

लूँ गी सब.

नैना ने आंटी की यह बाते सुनी तो नैना को कॉन्फिडेन्स आ गया और स्माइल कर

के हां कर दी.

अभी दोनो ऐसे ही बाते कर रहे थे कि कंपनी के फाइनान्स एग्ज़िक्युटिव राजा

साहब रूम मे दाखिल हुए और आंटी और नैना को है बोला. आंटी ने उन्हे सीट पे

बैठने का कहा और रिपोर्ट्स देखने लगी.

नैना सामने पड़े मॅग्ज़िन को देखने लगी और साथ साथ टी पेने लगी. नैना ने

फील किया कि राजा साहब उसे दैख रहे हैं. नैना ने हल्की सी नज़र घुमा के

दैखा तो राजा साहब की नज़र नैना के ब्रेस्ट्स पे थी. नैना को दिल ही दिल

मे अछा लगा कि ऐक एज्ड बंदे भी उसके फिगर को दैख के देखते ही रह जाते

हैं. फिर नैना ने नज़र आंटी पे डाली जिनका का चेहरा रिपोर्ट पढ़ के लाल

हो रहा था. इस से पहले नैना वापिस मॅग्ज़िन की तरफ़ जाती आंटी ने बोलना

शुरू किया.

आंटी: राजा साहब व्हाट दा हेल ईज़ दिस? क्या है यह? अगर आप ही ऐसी

ग़लतियाँ करेंगे तो जूनियर स्टाफ का क्या कसूर? यह देखो आप ने यहाँ

10,000 के बिजय वन मिलियन लिख दिया है. हू विल बी रेस्पॉन्सिबल ऑफ

रिमेनिंग 0.99 मिलियन रुपीज़? आप को ज़रा भी आइडिया है कि यह रिपोर्ट भेज

के क्या असर पड़ेगा इस बिज़्नेस पे?

यह कह के आंटी ने फाइल राजा साहब की तरफ़ उठा के फैंकी और राजा साहब कुछ

कहने ही वाले थे कि आंटी ने उन्हे कहा कि इसे दोबारा चेक करे और आइ डोंट

वॉंट टू सी एनी एरर इन युवर साइंड रिपोर्ट. अंडरस्टॅंड? राजा साहब हां मे

सिर हिलाते मूँह नीचे कर के रूम से बाहर निकल गये.

क्रमशः..........

naina--paart-23

gataank se aage.......

Scene Change (Shaan and Sona).

Jesa k Shaan ko majbooran sona ki haan main haan milani pari aur is

tarha shaan ki raat bhar ki sex say bhari enjoyment k baad aik buray

din ka aghaz hua k wo aaj office bhi nahi ja saka tha. Ab subha k 11

baj rahay thay laiken sona thi k uth hi nahi rahi thi. Shaan nay sona

ko uthanay ki koshis ki magar sona nay yeh keh dia k jaanu sonay do na

raat bhar sonay nahi dia ab to sonay do aur dobara so gayee.

Shaan ab bore hona shuru hogaya tha. So shaan utha aur room say bahir

nikal gaya. Room say bahir jatay huay shaan sona ki mom k room k paas

say guzra, Door aisay hi thora open tha shaan nay thora aagay ho k

daikha to aunty or wo larka dono bed pay nangay laitay gehri neend so

rahay thay. Aur side table pay sharab ki khali bottels aur used

cigrettes paray huay thay. Shaan abhi yehi daikh raha tha k shaan ko

aik awaz nay chaunka dia.

Shaan nay peechay mur k daikha to takreeban 30 saal ki aik aurat khari

thi. Sahab ji, kehnay say shaan ko yakeen ho gaya tha k wo is ghar ki

naukraani hay. Shaan ko bahot sharam i k nokrani nay usko is halat

main daikha jab wo uski malikan k kamray main jhaank raha tha aur uski

nangi malikan ko daikh raha tha. Shaan kuch nahi bola aur bahir launge

main ja k newspaper parhnay laga.

Wo naukrani shaan k peechay chalti chalti shaan k kareeb aa k khari ho

gayee. Shaan nay poocha kia baat hay?

Nokrani: Sahab nashta laga doon?

Shaan: Sona utha jaye to ikhatay kar lain gay.

Nokrani: Sahab ji wo to 12 ya 12:30 say pehlay nahi uthain gi. Aur wo

uth k nashta nahi kartien sirf juice peeti hain.

Shaan:Ok theek laga do nashta. Aur samnay paray tv remote say tv on

kar lia aur news daikhnay laga.

Thori dair main shaan ko ghar main idhar udhar log nazar aana shuru

hogaye, Maali bahir paani laga raha tha lawn main, Aik kaam wali

dusting kar rahi thi, Aik banda bahir khari garion ko wash kar raha

tha. Shaan nay dining table ki tarf daikha to wahan us aurat k saath

aik aged banda bhi tha jo us k saath table pay nashta laganay main

help kar raha tha.

In sab ko daikh kar shaan k zehn main fauran yeh khayal aya k yeh sab

aa gaye hain aur ooper sona ko mom ka room ka darwaza open hay jahan

wo dono nangay laitay hain. Kitni besharmi hay yahan. Aur pata nahi

kitni dafa aatay jatay yeh nokar inko is halat main daikhtay hon gay.

Nokar bhi kia sochtay hon gay? Ghar k tamam logon ki kia izzat hogi

nokron ki nazar main?

Shaan k zehn main aik dum say kayee khayalat nay janam lay lia. Shaan

abhi yehi soch raha tha k shaan k kaan main us aged aadmi ki awaz i.

Sahab ji nashta lag gaya hay aap nashta kar lain.

Shaan utha aur ja k nashtay ki table pay ja k baith gaya. Table pay

tarha tarha ki cheezain available thien. Nashta itna kuch tayar hua

para tha jo k ghar k tamam log aur yeh tamam nokar bhi kha lain to tab

bhi kuch na kuch bach jaye.

Shaan nay us aged aadmi ko awaz lagayee wo aged aadmi daurta hua aya

ji sahab ji.

Shaan: Aaap ka naam kia hay?

Nokar: Ji Mannu naam hay ji mera.

Shaan: Acha yeh itna zayada nashta kiun bana dia? Khanay wala to sirf

main hoon akaila?

Mannu: Bus ji yeh sab ameeron k styles hain. Ooper wala unhain dono

hathon say day raha hay aur wo usi speed say kharch bhi kar rahay

hain.

Shaan: Manuu aap yahan baithain mujhay aap say aik baat poochni hay.

Mannu: Ji poochiay sahab aur Mannu neechay zameen pay baith gaya.

Shaan: Aray nahi bhai yahan ooper baitho chair pay meray saath.

Mannu: Nahi sahab yeh jaga to malik logon ki hay. Ham nokron ki jaga

to yahan neechay hay.

Shaan: Ghusay say main nay kaha na k yahan baitho ooper.

Mannu dar sa gaya aur ooper aa k baith gaya.

Shaan: Haan yeh hui na baat. Acha yeh batao k yeh larka kon hay jo

raat madam k saath aya tha?

Mannu: Ji hamain nahi pata. Madam k saath pehlay bhi aik do dafa aya

tha. Ab hum logo ki itni jurat kahan k hum in say poochain k yeh kon

hay.

Shaan: Ok. Acha tumharay elawa aur kitnay log is ghar main kaam kartay hain?

Mannu abhi kuch bolnay hi wala tha k doosri tarf say sona kisi shairni

ki tarha cheekhti hui i.

Mannu how dare you to sit beside Shaan? Tumhain pata nahi k tumhari

jaga wahan neechay hay? Get lost from here. Mannu dartay dartay utha

aur shaan ki taraf is nazar say daikha jesay keh raha ho k main nay

kaha nahi tha k meri jaga wahan neechay hi hay aur kitchen main chala

gaya.

Sona phir shaan ki tarf muri aur boli tum say thori dair sabar nahi

hosakta tha. Maira wait to kar laitay, ikhatay nashta kartay.

Shaan pehlay kehnay hi laga tha k wo us naukrani nay kaha tha k tum 12

ya 12:30 say pehlay nahi jago gi laiken phir Mannu ki halat daikh kar

sari baat apnay ooper hi daal li aur bola.

Actually poori raat tumharay saath sex main mehnat ki na to pait khali

ho gaya tha. So mujhay sakht bhook lag rahi thi. Aur tumhain disturb

karna munasib nahi samja.

Shaan ki is baat say sona ka temp thora down hua aur shaan k saath aa

k baith gaye.

Sona: Yaar tum in nokron ko plz itna free mat karo. Inhain inki auqat

main rehnay do.

Shaan: Sona main nay usay kaha tha k ooper baitho wo to bechara

neechay hi baitha tha.

Sona: Koi zaroorat nahi hay hamdardi karnay ki in k saath. Salay kaam

k na kaaj k dushman anaaj k.

Shaan ko sona k is behaviour k ooper bahot afsos hua. Sona k yeh roop

shaan nay aaj pehli dafa daikha tha. Khair Sona nay phir juice ka

glass lia aur shaan ko yeh keh kar chali gayee k wo ready ho kar aati

hay then wo kaheen niklain gay ghoomnay phirnay. Shaan nay haan main

haan mila di aur khamoshi say nashta karnay laga aur sona k behaviour,

Mannu ki batain, Aunty ka naked ho k aisay hi befikar ho k sona, in k

baray main sochnay laga.

--------------------

Scene Change (Naina and Aunty)

Idhar aunty nay gari car parking main park ki aur dono gari say utar k

building main dakhil honay lagien. Naina nay neechay utartay hi

sunglasses laga liay thay. Naina nay aaj bahot fiting main dress pehna

hua tha. Hairs shoulders tak roll ho k aa rahay thay. Shirt ka gala

thora deep tha k samnay say chest dikh rahi thi. Bra bhi shaid aaj

thori tight thi k breasts 90 degree angle pay straight huay paray

thay. Aur Kurtay k neechay tight trouser main thies aur hips to aik

aag barsa rahay thay. Overall naina bilkul aik dream girl lag rahi

thi.

Dono jaisay hi building main dakhil huay. Security gaurd nay aunty ko

solute kia aur phir naina ki tarf daikha kuch seconds tak.

Building k andar sab logon ki nazar naina pay hi thi. Chaltay chaltay

aunty nay naina ko bola. Naina i am getting jelous pehlay yeh sab

mujhay daikha kartay thay aur aaj yeh sab tumhain daikh rahay hain.

Aur chaltay chaltay dono lift main chali gayeen.

4th floor pay ja k lift ruk gayee aur dono lift say bahir aa gayeen.

Aunty: Wo raha samnay hamara office. Arayans Consulting. Yeh poora

floor hamaray paas hay.

Dono batain karti karti agay chalnay lagien. Aunty jahan jahan say

guzartien staff khara ho jata aur hello bolta. Aur Naina ko aik nazar

ooper say neechay tak daikhta.

Naina ko yeh sab clear feel ho raha tha k har koi us ki jism ko daikh

raha hay. Chaltay chaltay aunty bolien k Aaaj poora din koi kaam nahi

karay ga.

Naina: Wo kiun?

Aunty: Aaj yeh sab sirf batain karain gay.

Naina: Batain wo kiun?

Aunty: Aray pagli aaj tum jo i ho office main. Daikho kesay sab k moon

khulay huay hain. hahahaha aur yeh kehtay huay aunty samnay CEO k room

main chali gaeen aur naina bhi follow kartay huay room main dakhil ho

gayee.

Naina nay office daikha to hairan ho gayee. Bahot hi fit kisam ka

office tha sara.

Aunty: Kesa laga office?

Naina: Its awesome. Bahot khoobsoorat office hay bilkul aap ki tarha.

hehehe. Dil karta hay k main idhar hi job kar loon.

Aunty: What??????????????????? Dobara bolo kia kaha?

Naina: Yehi k idhar job kar loon.

Aunty: Aray wah tum nay to mairay moon ki baat cheen li. Main bhi yehi

kehnay wali thi k ghar main akailay bore hoti rehti ho why dont you

join my office?

Naina: Nahi aunty ji wo to main nay bus aisay hi mazak main kaha tha.

I know shaan kabhi bhi raazi nahi hon gay meri job pay.

Aunty: Tum ho interested k nahi?

Naina: Ji itnerested to hoon.

Aunty: To bus tum job kar lo. Shaan kon sa tumhara khayal karta hay.

Do din say ghar nahi aya aur na us nay subha say tumhain phone kia k

tum kaha ho. Usay kia fikar hay tumhari? Bus agar wo aata ghar to usay

keh daina k tum nay mairay office main job kar li hay. Agar kuch bolay

to mujhay bata daina main handle kar loon gi sab.

Naina nay aunty ki yeh batain suni to naina ko confidence aa gaya aur

smile kar k haan kar di.

Abhi dono aisay hi batain kar rahay thay k Company k finance executive

Raja sahab room main dakhil huay aur aunty aur naina ko hi bola. Aunty

nay unhain seat pay baithnay ka kaha aur reports daikhnay lagien.

Naina samnay paray magzine ko daikhnay lagi aur saath saath tea penay

lagi. Naina nay feel kia k raaja sahab usay daikh rahay hain. Naina

nay halki c nazar ghuma k daikha to Raja sahab ki nazar naina k

breasts pay thi. Naina ko dil hi dil main acha laga k aik aged banday

bhi uskay figure ko daikh k daikhtay hi reh jatay hain. Phir naina nay

nazar aunty pay daali jinka ka chehra report parh k laal ho raha tha.

Is say pehlay naina wapis magzine ki tarf jaati aunty nay bolna shuru

kia.

Aunty: Raja sahab waht the hell is this? Kia hay yeh? Agar aap hi aisi

ghaltian karain gay to junior staff ka kia kasoor? Yeh daikhain aap

nay yahan 10,000 k bijay one million likh dia hay. Who will be

responsible of remaining 0.99 Million Rupees? Aaap ko zara bhi idea

hay k yeh report bhaij k kia asar paray ga is business pay?

Yeh keh k aunty nay file raja sahab ki tarf utha k phainki aur raja

sahab kuch kehnay hi walay thay k aunty nay unhain kaha k isay dobara

check karain aur i dont want to see any error in your signed report.

Understand? Raja sahab haan main sir hilatay moon neechay kar k room

say bahir nikal gaye.

kramashah..........