incest "खून का असर" compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit skoda-avtoport.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: incest "खून का असर"

Unread post by raj.. » 14 Oct 2014 00:57

सुधिया अरे कमिनो जब रात को

तुम्हारी मा सो जाए तो उसका घाघरा उठाकर उसको पूरी नंगी

कर देना और जब उसकी मोटी गंद और चूत तुम्हे दिखे तो साली

रंडी को सोते मे ही लंड उसकी चूत मे फसा देना और कुतिया

को पूरी रात नंगी करके खूब कस कस कर चोदना साली को अभी

भी म्सी आती है, म्सी के बाद उसकी चूत खूब चुदासी हो जाती है

जब तुम दोनो अपनी मा को पूरी नंगी करके एक साथ अपने लंड

से उसको चोदोगे तो फिर वह रोज रात को तुम्हारा लंड खाए

बिना सोएगी नही वैसे भी उसका भोसड़ा और गंद इतनी मोटी है

कि उसे एक साथ दो लंड से चुदने पर ही मज़ा आएगा और

तुम्हारा लंड है भी इतना मोटा कि जैसे तुमहरि रंडी मा को

चोदने के लिए ही बना हो एक बार उसकी चूत और गंद चोद दो

फिर देखो वो दिनभर तुम्हारे आगे नंगी ही घूमेगी, और

फिर राजू और बिरजू सुधिया को कस कस कर चोदने लगते है और

सुधिया अपना पानी छ्चोड़ देती है और फिर दोनो भाई सुधिया

को पूरी ताक़त से चोद्ते हुए उसके दोनो छेदो को अपने पानी से

भर देते है,

दोनो भाई सुधिया काकी को चोद कर अपने घर आ जाते है, और

उनके आँगन मे दोनो रंडिया गंद मटका मटका कर काम

करती रहती है, और उन दोनो की मोटी मोटी गंद को देख कर

दोनो के लोदे फिर से सनसांने लगते है, उधर दोनो मा बेटियो

की चूत भी उन दोनो के लंड को देख कर पानी छ्चोड़ने लगती

है.

बिरजू मा आज जंगल नही चलना है क्या नही बेटे आज मन नही कर रहा है तब बिरजू और राजू दोनो गाँव मे घूमने चले जाते है कमला अपने बिस्तेर पर लेटी रहती है और शीला उसके पास जाकर क्या हुआ मा क्या तबीयत खराब है, लाओ मैं तुम्हारे पैर दबा देती हू और शीला अपनी मा के पैर को दबाने लगती है तभी कमला का घाघरा उसकी चूत से हट जाता है और शीला को अपनी मा की फूली हुई चूत नज़र आ जाती है, शीला अपनी मा की चूत को अपने हाथो से सहलाते हुए मा तुम्हारी चूत कितनी बड़ी और फूली हुई लग रही है, कमला हाँ बेटी मैं तुम तीन बच्चो को जन चुकी हू तो मेरी चूत बड़ी तो होगी ही ना, शीला पर मा तुम्हारी चूत से तो बहुत पानी आ रहा है, कमला बेटी मुझे वो सब करे बहुत समय हो गया है ना तेरा बापू तो दारू पी कर घूमता रहता है, और मैं तड़पति रहती हू इसीलिए कभी कभी इसमे से पानी बहने लगता है, पर मा यह तो बहुत पानी छ्चोड़ रही है लाओ मैं इसका पानी पोंछ देती हू और शीला अपनी हथेलियो से अपनी मा की चूत को पोंछने लगती है और कमला अपनी जंघे फैला कर अपनी पूरी चूत खोल देती है, शीला अच्छा मा बापू जब तुम्हे चोद्ता था तो तुम्हे बहुत मज़ा आता होगा ना हाँ बेटी लेकिन मेरी तृप्ति कभी नही हो पाती थी, शीला मा तुम्हारी चूत इतनी मस्त है कि कोई भी मर्द अगर ऐसी चूत देख ले तो अपना लंड डाले बिना नही रह सकता है, कमला तेरा पति तो तेरा पूरा ख्याल रखता है ना, शीला अरे मा उन्हे अपने काम से फुरसत मिले तब ना, तो फिर बेटी तुझे अभी उसकी याद बहुत आती होगी हाँ मा लेकिन, लेकिन क्या मा एक बात कहु हाँ बोल बेटी क्या बात है, मा मुझे उनका लंड बहुत छोटा लगता है मुझे तो बिल्कुल मज़ा नही आता है, कमला क्यो तूने किसी का बड़ा लंड देखा है जो उसका लंड तुझे छोटा लगता है, वो मा देखा तो है पर तुम्हे कैसे बताऊ, बता ना बेटी अपनी मा से क्यो शरमाती है क्या मैं तेरी भावनाओ को नही समझती हू, शीला बातो ही बातो मे अपनी मा की चूत मे अपनी दो उंगलिया डाल कर धीरे धीरे आगे पीछे करने लगती है और कमला अपनी जंघे पूरी फैला कर पड़ी पड़ी मस्ता रही थी, मा मैने तो ऐसा लंड देखा है कि अगर तुम देख लो तो उसे अपनी चूत मे लिए बिना नही रह सकती हो, और तुम्हारी चूत देख कर तो ऐसा लगता है कि वह लंड तुम्हारी चूत चोदने के लिए ही बना हो, ऐसा किसका लंड देख लिया बेटी तूने, मा बहुत ही मस्त लंड है और वो भी एक नही दो दो मोटे मोटे लंड देखे है मैने, मेरी तो चूत गीली हो गई थी मा उन दो दो मोटे लंड को देख कर, शीला मा तुम्हारी चूत तो बहुत पानी छोड़ रही है और अपनी मा की चूत को खूब तेज तेज अपनी उंगलियो से रगड़ते हुए मा तुम्हारी चूत मे ऐसा ही मोटा लंड घुसेगा तब ही तुम्हे असली मज़ा आएगा, कमला कही तू उन लंडो से चुद तो नही गई बेटी, शीला अच्छा मा मेरी चूत देख के बताओ की मैं उन लंडो से चुदी होगी कि नही और अपना घाघरा उठा कर अपनी मा के मूह के सामने बैठ कर शीला अपनी फूली हुई भोसड़ी को अपनी मा को देखाती है, कमला शीला की चूत को फैलाकर देखते हुए उसकी बुर को सहलाते हुए मुझे तो लगता है बेटी तू उन मोटे मोटे लंडो को एक साथ ले चुकी है तेरी चूत भी पूरा भोसड़ा नज़र आ रही है, दोनो मा बेटी एक दूसरे की मस्तानी भोसदिया देख कर अपनी अपनी चूत से खूब पानी छोड़ने लगी थी, शीला एक दम अपनी मा के सीने से चिपक कर उसके गालो और होंठो को चूमती हुई हाँ मा मैं वो मोटे मोटे लंड से खूब कस कस कर चुदी हू और तुम अगर ऐसा मोटा लंड देख लो तो तुम्हारी चूत उनके लंड से चुदने के लिए पागल हो जाएगी, कमला अपनी बेटी की चूत को मसलते हुए अब बता भी दे किसके लॅंड की बात कर रही है, मा कोई और नही मई बिरजू भैया और राजू भैया के लॅंड की बात कर रही हू , कमला क्या बिरजू और राजू का लंड इतना बड़ा है, शीला हाँ मा उनके जैसा मोटा लंड तूने अपनी पूरी जिंदगी मे कभी नही देखा होगा, कमला तो क्या तू अपने भाइयो के लंड से चुद चुकी है, शीला मा दोनो भाई इतना मस्त तरीके से चोद्ते है कि मुझे अपने पति से ज़्यादा अपने भाइयो से अपनी चूत मरवाने मे मज़ा आता है, मा मैं तो कहती हू एक बार तू उनके मोटे लंडो से चुद कर देख तेरी सारी खुजली उनके मोटे लंड ही मिटा सकते है, और कमला की बुर को अपने हाथो मे दबोचने लगती है, कमला पर बेटी मैं उनकी मा हू मैं उनके साथ ऐसा कैसे कर सकती हू वो दोनो अपनी मा के बारे मे क्या सोचेगे, अरे मा तू तो बेकार परेशान हो रही है, तू नही जानती कि वो दोनो तुझे खूब कस कस कर पूरी नंगी करके चोदना चाहते है और अपनी मा की चूत मे दो उंगलिया डाल देती है, कमला ये तू क्या कह रही है, मैं सच कह रही हू मा जब दोनो मुझे चोद्ते है तो तेरी ही बात करते है और दोनो तुझे खूब चोदना चाहते है उन्हे तेरी मोटी मोटी गंद बहुत पसंद है, उन्होने तो तुझे कई बार नंगी भी देखा है, बिरजू तो कहता है कि शीला अपनी बहन को पूरी नंगी करके चोदने मे बहुत मज़ा आता है और उससे भी ज़्यादा मज़ा अपनी मा को पूरी नंगी करके चोदने मे आता होगा, मा तेरी गदराई गंद और चूत देख देख कर दोनो का लंड दिन रात खड़ा रहता है एक बार तू उन दोनो से एक साथ चुद कर देख मा तुझे मज़ा आ जाएगा, कमला पर बेटी यह सब होगा कैसे, शीला मा तू फिकर मत कर मैं आज उन दोनो को सब समझा दूँगी और उन्हे तेरे कमरे मे भेज दूँगी फिर तू पूरा दिन उनके लंड से चुदती रहना फिर मैं भी आ जाउन्गि और फिर हम दोनो मा बेटियाँ मिल कर उनसे खूब चुडवाएगी, कमला सीसियाते हुए बेटी अब मुझसे रहा नही जा रहा है, तभी शीला अपनी मा की चूत मे अपना मूह लगा कर उसका रस पीने लगती है तब कमला भी अपनी बेटी की चूत चूसने लगती है, दोनो मा बेटी एक दूसरे की बुर का पानी खूब कस कस कर चुस्ती है और फिर झाड़ जाती है

क्रमशः....................